Best 65+ Zindagi Shayari In Hindi (Latest) | जिंदगी शायरी

ज़िन्दगी इंसान को बहुत कुछ सिखाती है. कोई साथ छोड़कर चला जाता है तो कोई मुँह पर झूठ बोलता है. दोस्तों अगर आपके साथ भी ऐसा हुआ है और आप गूगल पर Zindagi Shayari ढूंढ रहे हैं तो आप सही वेबसाइट पर आये हैं.

इस वेबसाइट पर आपको Zindagi Shayari 2 Lines, Akeli Zindagi Shayari, Hasrate Zindagi Shayari In Hindi, Zindagi Sad Shayari, उलझन जिंदगी शायरी, जिंदगी की सच्चाई शायरी, दर्द जिंदगी शायरी, मेरी जिंदगी शायरी, Ishq Zindagi Shayari, Zindagi Shayari In English मिलेंगी जिन्हें आप सोशल मीडिया साइट्स फेसबुक, व्हाट्सप्प, इंस्टाग्राम आदि पर शेयर कर सकते हैं.

Table of Contents

Zindagi Shayari

ज़िन्दगी फूल सी है तारों से भी
अँधेरा होता है रातों से भी
ज़िन्दगी वो धोखा है जिसमें
गम मिलते हैं रिश्ते नातों से भी
क्या बताऊँ इस ज़िन्दगी की कातिल ए दास्ताँ
ज़िन्दगी तो यूँ ही गुज़र गई
मगर नहीं मिला मंजिल का रास्ता
ग़म तो बहुत मिलते थे मुझको
क्योंकि नहीं था मेरे खुशियों से वास्ता
ज़िन्दगी में ख़ुशी नहीं गम पड़ गए
आँखों से निकले आंसूं भी नम पड़ गए
वक़्त ही कुछ ऐसा पड़ा यारों कि
बयां करने के लिए लफ्ज़ ही कम पड़ गए
कुछ हक़ीक़त कुछ सपने दिखाए
कुछ पराये कुछ अपने दिखाए
मुझे नफ़रत हैं इन सब से
ए ज़िन्दगी बता क्या ये सब मेरे रब ने दिखाए
ज़िन्दगी में फूल नहीं काटें मिलते हैं
ज़िन्दगी में चाहते नहीं नफरते मिलती हैं
हम करे तो क्या करें ज़िन्दगी
मंजिल आसान नहीं उसमे मुश्किलात भी मिलते हैं

Akeli Zindagi Shayari

हमारा कोई अपना बन जाता
बंद आँखों का सपना बन जाता
ज़िन्दगी के लिए हम अँधेरे बन गए कि
कहीं ये ही अँधेरा 
मेरी ज़िन्दगी का गुनाह न बन जाता
ज़िन्दगी का कोई रखवाला नहीं था
खुशियों को मेरी कोई लाने वाला नहीं था
खुशियों में तो मेरी सभी हसे थे मगर
मेरी मौत पे कोई रोने वाला नहीं था
हर एक ज़िन्दगी मशाल नहीं होती
हर एक मुस्कराहट मुस्कान नहीं होती
ज़िन्दगी में हमेशा खुश रहा करो वरना
ख़ुशी किसी की मोहताज नहीं होती
कोई फलक से तारे तोड़ दो
ज़मीन पर आकर उन्हें छोड़ दो
मुझे ना भाये ज़िन्दगी की खुशियां
दिल कहता है ये ज़िन्दगी छोड़ दो
जो सर पर साया बन कर रहे वो हाथ ज़रूरी है
जो किसी के काम आये वो बात ज़रूरी है
हम तो अपनी ज़िन्दगी में कुछ भी कर जायेंगे
मगर कुछ करने के लिए अपनों का साथ ज़रूरी है

Zindagi Shayari 2 Lines

अपना हाल तक ना बताते हैं किसी शख्स को
देख जिंदगी हम कितना मुस्कुरा रहे हैं
कर दिया मैंने भी जिंदगी को ऐसे बर्बाद
जैसे जिंदगी ने मुझे बर्बाद किया था
जिंदगी की उलझनो को सुलझा रहा हूं मैं।
देख तेरी याद को रफ्ता रफ्ता भुला रहा हूं मैं
कभी ‎कहा करते थे कि रोने से नसीब नही बदला करते,
बस वही तसल्ली ने जिन्दगी भर हमे रोने ना दिया
इस छोटी सी ज़िंदगी में किस-किस से कतरा के चलूँ
राख हूँ मैं अब राख पर क्या खाक़ इतरा कर चलूँ

Hasrate Zindagi Shayari In Hindi

हसरतें रह जाएँगी आपके बिना अधूरी
ज़िन्दगी न होगी आपके बिना पूरी
अब और सही जाये न यह दूरी
जीने के लिये आपका साथ है बहुत ज़रूरी
मुझे मालूम है ऐसा कभी मुमकिन ही नहीं,
फ़िर भी हसरत रहती है कि तुम याद करो
मत पूछो कैसे गुजरता है
हर पल तुम्हारे बिना
कभी बात करने की हसरत
कभी देखने की तमन्ना
आँधियाँ हसरत से अपना सर पटकती रह गईं,
बच गए वो पेड़ जिनमें हुनर झुकने का था
रोकना मेरी हसरत थी,
और चले जाना उनका शौक़,
वो शौक़ पुरा कर गए…
मेरी हसरतें तोड़ कर..

उलझन जिंदगी शायरी

हम जी रहे है कोई बहाना किये बगैर
उस के बगैर, उस की तमन्ना किये बगैर
मकड़ी भी नहीं फँसती अपने बनाये जालो में,
जितना आदमी उलझा है अपने बुने ख्यालों में
याद ना करे तो ना सही, ये तो पता चले
नीयत खराब है कि तबियत खराब है
अजीब हालत है मेरे भी,
कभी जो अपना था अब वो सपना है.
समझ में नहीं आता जिन्दगी में उलझन है,
या उलझन ही अपनी बन गई जिन्दगी है.

जिंदगी की सच्चाई शायरी

ना देखा हमको किसी ने रोते हुए
शायद सबका यही तौर तरीका होगा
और क्या क्या सबूत दिखाएँ हम आपको
देखो जाकर मेरा तकिया अभी भी
आसुओं से भीगा होगा
बक़्श दे हमें ऐ ज़िन्दगी
बस यही फरियाद करते हैं
अब तो सिर्फ मौत को ही ढूंढते हैं हम
और बस मौत को ही याद करते हैं
अपने तो सब हैं यहाँ
पर वास्ता कोई नहीं
चाहत दिखाते तो सब यहाँ
पर चाहता कोई नहीं

मेरी जिंदगी शायरी

देखा है मैंने ज़िन्दगी को इतने करीब से
चेहरे तमाम लगने लगे है अजीब से
वो हर बार अगर चेहरा बदल कर न आया होता,
तो धोखा उस शख्स से मैं यूँ न खाया होता,
रहता अगर याद कर मुझे लौट के आती नहीं,
ज़िन्दगी फिर मैंने तुझे यूं न गंवाया होता
हजारों उलझनें राहों में और कोशिशें बेहिसाब
इसी का नाम है ज़िन्दगी चलते रहिये जनाब
एक साँस सबके हिस्से से हर पल घट जाती है,
कोई जी लेता है जिंदगी, किसी की कट जाती है
परछाइयाँ रह जाती , रह जाती निशानी है..!!
ज़िन्दगी और कुछ भी नही तेरी मेरी कहानी है

Ishq Zindagi Shayari

आया ही था खयाल कि आँखें छलक पड़ीं
आँसू किसी की याद के कितने करीब हैं!
ज़िन्दगी में ऐसे लोग भी होते है
जिन्हें हम पा नही सकते सिर्फ चाह सकते है
फिक्र है सबको खुद को सही साबित करने की
जैसे ये ज़िंदगीए ज़िंदगी नही कोई इल्जाम है!
मुझे ज़िन्दगी का इतना तजुर्बा तो नही
पर सुना है सादगी में लोग जीने नही देते!
ले दे के अपने पास फ़क़त एक नजर तो है
क्यूँ देखें ज़िंदगी को किसी की नजर से हम।

Zindagi Sad Shayari in Hindi

ज़िंदगी जिसका बड़ा नाम सुना है हमने
एक कमजोर सी हिचकी के सिवा कुछ भी नही
मत सोच इतना ज़िन्दगी के बारे में
जिसने ज़िन्दगी दी है उसने भी कुछ तो सोचा होगा
एक उम्र गुस्ताखियों के लिये भी नसीब हो
ये ज़िंदगी तो बस अदब में ही गुजर गई
बदल जाती है ज़िन्दगी की सच्चाई ऊस वक़्त
जब कोई तुम्हारा तुम्हारे सामने तुम्हारा नही होता
हर बात मानी है तेरी सिर झुका कर ऐ ज़िंदगी
हिसाब बराबर कर तू भी तो कुछ शर्तें मान मेरी

दर्द जिंदगी शायरी

जो मिला कोई न कोई सबक दे गया
अपनी ज़िन्दगी में हर कोई गुरु निकला
अब समझ लेता हूँ मीठे लफ़्ज़ों की कड़वाहट
हो गया है ज़िंदगी का तजुर्बा थोड़ा थोड़ा
ज़िन्दगी कबकी खामूश हो गयी
दिल तो बस आदतन धड़कता है
मुझे ज़िंदगी का इतना तजुर्बा तो नही है दोस्तों
पर लोग कहते हैं यहाँ सादगी से कटती नहीं
ज़माना बड़े शौक़ से सुन रहा था
हमीं सो गए दास्तां कहते कहते

Bewafa Zindagi Shayari in Hindi

होना क्या है ज़िन्दगी को
भुगत रहा हूँ ज़िन्दगी के बिना
तुझमे छिपे हैं मेरी ज़िन्दगी के हजारों राज
तुझे वास्ता ज़िन्दगी का ज़रा खुद का ख्याल रख
कभी खोले तो कभी ज़ुल्फ़ को बिखराए है
ज़िंदगी शाम है और शाम ढली जाए है
पहले से उन कदमों की आहट जान लेते हैं
तुझे ऐ ज़िंदगी हम दूर से पहचान लेते है
कुछ ऐसे सिलसिले भी चले ज़िंदगी के साथ
कड़ियां मिलीं जो उनकी तो ज़ंजीर बन गए
फुर्सत मिले जब भी तो रंजिशे भुला देना,
कौन जाने साँसों की मोहलतें कहाँ तक हैं।
मुझ से नाराज़ है तो छोड़ दे तन्हा मुझको,
ऐ ज़िंदगी, मुझे रोज-रोज तमाशा न बनाया कर

Zindagi Shayari In English

Kar Diya Maine Bhi
Jindagi Ko Aise Barbad
Jaise Jindagi Ne Mujhe
Barbad Kiya Tha
Apna Hal Tak Na Batate Hain Kisi Shaks Ko
Dekh Jindagi Ham Kitna Muskura Rahe Hain
Bhatakana Kon Chahata Hai Is Jindagi Me,
Jo Tum Mil Jao To Abhi Thahar Jaun Main
Tumhara Pal Bhar Ka Sath Kharidne Ke Liye,
Thodi–Thodi Jindagi Roj Bechte Hain Ham
Aakhir Kab Tak Kissa Banke Rahoge,
Jaldi Se Hissa Ban jao Meri Jindgi Ka.

Related Post:

अंतिम शब्द

दोस्तों मैं उम्मीद करता हूँ कि इस वेबसाइट में शेयर की गईं Zindagi Shayari आपको पसन्द आयी होंगी। अपनी Favourite Zindagi Shayari को कमेन्ट करके हमारे साथ जरूर शेयर करें और सोशल मीडिया साइट्स Facebook, Whatsapp, Instagram आदि पर शेयर करना ना भूलें

Leave a Comment